सौरभ कुमार ठाकुर

हिंदी साहित्य सेवा डॉट कॉम
साहित्यिक मंच – सेवा हिंदी साहित्य की
www.hindisahityaseva.com

जीवन परिचय: बिहार प्रदेश के मुजफ्फरपुर के रहने वाले सौरभ कुमार ठाकुर एक बालकवि एवं लेखक हैं |

———————————————————

——————————————————————————————————————-

ले वो वादें (कविता)

ले वो वादें गरीबी मिटा देंगे,
ले वो वादें बेरोजगारी मिटा देंगे,
लो वो वादें भ्रष्टाचार मिटा देंगे,
हम नया हिन्दुस्तान बना देंगे ।
ले वो वादें कुपोषण मिटा देंगे,
ले वो भारत को साक्षर बना देंगे,
ले वो वादें बीमारी पर काबू पा लेंगे,
हम नया हिन्दुस्तान बना देंगे ।
ले वो वादें देशद्रोहियों को मिटा देंगे,
ले वो वादें अपराध जड़ से मिटा देंगे,
ले वो वादें दुश्मनों के छक्के छुड़ा देंगे,
हम नया हिंदुस्तान बना देंगे ।
ले वो वादें सबको साथ रहना सिखा देंगे,
ले वो वादें देशभक्ति का पाठ सबको पढा देंगे,
ले वो वादें उत्साह सबमे जगा देंगे,
हम नया हिन्दुस्तान बना देंगे ।

——————————————————————————————————————-

हिम्मत (कविता)

तुम कुछ कर सकते हो
तुम आगे बढ़ सकते हो ।
तुममे है बहुत हिम्मत
तुम जग को बदल सकते हो ।
तुम खुद से हिम्मत नही हारना ।
कभी खुद का भरोसा मत हारना ।
तुम झूठ का मार्ग छोड़
सच्चाई के रास्ते पर चलते रहना ।
मुसीबत बहुत आते हैं जीवन में
बस डट कर सामना करना ।
तुम ही देश के भविष्य हो
यह बात हमेशा याद रखना ।
आत्मविश्वास बनाए रखो
तुम हर कार्य पूरा कर पाओगे
अपनी प्रयास तुम जारी रखो
एक दिन जरुर सफल हो जाओगे ।
तुम करना कुछ ऐसा की,
सारी दुनिया तुम्हारे गुण गाए ।
तुम बनना ऐसा की महानों की,
महानता भी कम पड़ जाए ।
तुम रखना हिम्मत इतना की,
वीर योद्धा की तलवार भी झुक जाए ।
तुम बनना इतना सच्चा की
हरीशचंद्र के बाद तुम्हारा नाम लिया जाए|

One thought on “सौरभ कुमार ठाकुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *