राजीव नामदेव “राना लिधौरी”

हिंदी साहित्य सेवा डॉट कॉम
हिंदी साहित्य सेवा मंच – सेवा हिंदी साहित्य की
www.hindisahityaseva.com

जीवन परिचय:

नाम-राजीव नामदेव “राना लिधौरी”
पिता -श्री सी एल नामदेव
जन्म-15-6-1972
शिक्षा-बी एससी,एम ए, पीजीडीसीए कम्प्यूटर
प्रकाशित पुस्तकें- 6पुस्तकें प्रकाशित एवं 11पुस्तकों व अभिनंदन ग्रंथों का संपादन
300 से अधिक कवि गोष्ठियों का आयोजन व संयोजक
सम्मान- महामहिम तीन राज्यपालों द्वारा सम्मानित एवंअ अबतक 18प्रदेशों से 90सम्मान प्राप्त
ब्लाग में सक्रियता 71देशों के लगभग एक लाख पाठक हैं।
पता- राजीव नामदेव “राना लिधौरी”
संपादक आकांक्षा पत्रिका
अध्यक्ष मप्र लेखक संघ टीकमगढ़
अध्यक्ष वनमाली सृजन केन्द्र टीकमगढ़
नई चर्च के पीछे, शिवनगर कालोनी, टीकमगढ़ (मप्र)

———————————————————–

योग पर केन्द्रित कुछ दोहे

योग दिवस वादा करो, खूब करेंगे रोज।
काया कंचन सी बने, मुखड़े पर हो ओज।।
फुर्ती रहे शरीर में, जो करता है योग।
मन प्रसन्न उसका रहे, होगे ना फिर रोग।।
रोज कीजिए खूब ही, दवा मुफ्त की योग‌।
जो जितना ज्यादा करे, उतना रहे निरोग।।
बाबा योग सिखा रहे, करिए आप जनाब।
स्वथ्य रहोगे फिर सदा, तन न होगा खराब।।