दीपक सरकार

सिरसा माचिपुर, कस्बा – जेवर |

हमे नफरत है तो उनकी इन विखरती हुई जुल्फो से ,
जो कि दीवार बन जाती है , उनके चाँद से चेहरे के दीदार मे | ——————- ०३ अगस्त २०१९|