डॉ. पवित्र कुमार शर्मा

हिंदी साहित्य सेवा डॉट कॉम
हिंदी साहित्य सेवा मंच – सेवा हिंदी साहित्य की
www.hindisahityaseva.com

जीवन परिचय: डॉ. पवित्र कुमार शर्मा जी का जन्म राजस्थान के धौलपुर शहर में 30जून, सन् 1971 ई0 को हुआ । इनके पिता का नाम स्व0 श्री रामवीर शर्मा तथा माता का नाम श्रीमती सुशीला देवी है । इनका घर आर्थिक रूप से सम्पन्न धा और पिताजी अधिकारी थे । इन्होंने पहली कक्षा से स्नातकोत्तर तक की शिक्षा धौलपुर नगर से पूरी की । राजस्थान विश्वविद्यालय से हिन्दी से एम0ए0, आगरा विश्वविद्यालय से प्राणीशास्त्र से एम-एस0सी0 तथा हिन्दी में शोधकार्य ( आगरा वि0वि0 से ) किया लेकिन नौकरी में रूचि न होने के कारण व्यावसायिक लेखन-कार्य करते रहे । सन् 1990 ई0 में ‘ प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय ‘ नामक आध्यात्मिक-संस्थान से जुड़े । ये 25 वर्षों से घर में ही ध्यान और राजयोग की नि:शुल्क क्लास चलाते हैं । काव्य-रचनाएँ तुकान्त और अतुकांत दोनों लिख लेते हैं।

———————————————–

योग-संस्कृति

हाँ, यही वह देश भारत !
सदियों से,
योग की सनातन-संस्कृति के रथ पर सवार
विश्व की दिशाओं को आलोकित करता
बढ़ता ही गया है
अपने दिग्विजय-अभियान में
देता जगत को अभयदान ……….।
ॠषियों के तप-त्याग-संयम का प्रभाव
दिखाता योग के आसनों में
प्राणायाम की श्वास-ध्वनि में …..
यही है परम्परा हमारी ‘ योग ‘ की
उसी से, शतायु का लक्ष्य लिए
जीते हम भारतीय ।
कर्म में भी योग साध
सब कुछ सोंप प्रभु को
साक्षीभाव-निर्विकार
रहते जग-सिन्धु में
निमित्त मान — ‘ बिन्दु मैं ! ‘